Monday, 28 March 2016

हरि के कार्तिक महिनमा बड़ा सुदिनमा हे हरि - छठ के गीत ८४

हरि  के कार्तिक महिनमा बड़ा सुदिनमा हे हरि - छठ के गीत ८४

हरि  के कार्तिक महिनमा बड़ा सुदिनमा हे हरि।
हरि  हे छठी मईयां अयलन पहुनमा हे हरि।
हरि हे गाँव के बाहर बसे एक डोम्बा हे हरि।
हरि रे हरे बाँस डलबा बिनायब हे हरि।
हरि हे डालाबा में केलबा चढ़ायाब हे हरि।
हरि हे औहे लय छठी मईया के चढायब हे हरि।

No comments:

Post a Comment

स्वच्छ भारत - कविता

स्वच्छ भारत - कविता स्वच्छता के बीज बापू| लगा गए अरमान से|| आज हमारे देश भक्त| लहलहा दिए बड़े लाड से|| स्वच्छता के वृक्ष व...